जिला विद्यालय निरीक्षक की हठधर्मिता से स्कूल संचालक संकट में



जिला विद्यालय निरीक्षक की हठधर्मिता से स्कूल संचालक संकट में



बरेली। ब्लाक भुता स्थिति आर आर इण्टर नैशनल स्कूल कक्षा आठ तक मान्यता प्राप्त है तथा इसी कक्षा तक कक्षायें संचालित होती हैं।

       इस स्कूल के संचालक कक्षा नौ से कक्षा बारह तक कोचिंग चलाते हैं, जो कोचिंग सक्षम अधिकारी से मान्य व पंजीकृत है।

       कोरोना संक्रमण के चलते अभिभावकों की आर्थिक स्थिति डगमगा गयी जिस कारण अधिकांश अभिभावकों ने कोचिंग का शुल्क देना बन्द कर दिया। कई महीनों का शुल्क बकाया होने पर कोचिंग संचालक ने शुल्क की मांग की और अभिभावकों को शुल्क भुगतान हेतु टोकना शुरू किया जिससे क्षुब्ध होकर कुछ ने मुख्यमंत्री पोर्टल सहित अन्य अधिकारियों से शिकायत कर दी कि स्कूल संचालक अवैध रुप से कक्षा नौ से बारह तक अवैध कक्षायें संचालित कर रहा है।

       शिकायत पर जिला विद्यालय निरीक्षक ने सरकारी हाई स्कूल की प्रधानाचार्या को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया। जांच अधिकारी ने शिकायत कर्ताओं के व कुछ स्कूल संचालक के विरोधियों तथा शुल्क नहीं दे पाते विद्यार्थियों के बयानों के आधार पर जांच आख्या जिला विद्यालय निरीक्षक को भेज दी। 

       जिला विद्यालय निरीक्षक ने स्कूल संचालक को सफाई का मौका दिये बिना जांच अधिकारी को स्कूल संचालक के विरुद्ध पुलिस प्राथमिकी लिखाने के आदेश पारित कर दिये।

       मान्यता प्राप्त स्कूलों के संगठन बेसिक शिक्षा समिति उत्तर प्रदेश के प्रदेशाध्यक्ष जगदीश चन्द्र सक्सेना ने जिला विद्यालय निरीक्षक बरेली से एफ आई आर लाखाने के आदेश तत्काल प्रभाव से निरस्त कर स्कूल संचालक को सफाई का अवसर प्रदान करने की मांग की है।

टिप्पणियाँ