बिजली विभाग की लापरवाही बन सकती है जानलेवा*

 *बिजली विभाग की लापरवाही बन सकती है जानलेवा*



भरतपुर जवाहर नगर हाउसिंग बोर्ड सेक्टर एक पार्क के तिराहे और पार्क की बाउंड्री के पास लगा बिजली का ट्रांसफार्मर बन सकता है किसी मौत का हिस्सा।

दिनांक 25 नवंबर को हुई दुर्घटना में इस ट्रांसफॉर्मर से पार्क में खेल रहे दो बच्चे अनुराग और मोहित रेलिंग में आए करंट से बुरी तरह झुलस गए जिन्हें आर बी एम अस्पताल भरतपुर में भर्ती कराया गया एक बच्चे की स्थिति गंभीर होने पर उसे एस एम एस जयपुर भेज दिया 14 वर्षीय अनुराग अपनी जिंदगी से जूझा और आज भी घर पर रहकर असहनीय पीड़ा के साथ अपनी जिंदगी बचाने में जूझ रहा है। दुर्घटना के समय  बिजली विभाग के सभी पदाधिकारी मौके पर पहुंचे और सभी स्थानीय निवासियों से एक दिन में ट्रांसफार्मर हटाने का वादा करके वहां से निकलने के बाद उन गरीब परिवार के बच्चों से कोई खेर खबर तक नहीं ली और न ही ट्रांसफार्मर हटाने की प्रक्रिया आज तक शुरू की। कॉर्नर पर लगा ट्रांसफार्मर फिर किसी परिवार के साथ हादसा का कारण बन सकता है जिसका जिम्मेदार बिजली विभाग होगा। स्थानीय पार्षद दीपक मुदगल ने कहा की पार्क में आने वाले लोग और उस रास्ते से निकलने वाले  राहगीर बहुत भयभीत हैं। मौके पर झूठा आश्वासन देने वाले बिजली विभाग के कर्मचारियों ने स्थानीय निवासियों को झूंठ बोलकर बिजली विभाग  की साख को खराब किया है। पार्षद ने कहा की वो जिला कलक्टर और मंत्रियों को ज्ञापन देकर बिजली विभाग की लापरवाही से अवगत कराएंगे। शहर में कार्य कर रही दोनो प्राइवेट कम्पनी बिजली विभाग और दूसरी सिवरेज ने शहर की कीमती सड़कों को तोड़कर सुध नहीं ले रहे जिससे आमजन को बहुत नुकसान हो रहा है।

टिप्पणियाँ